गौरी लंकेश हत्याकांड: एक्टर प्रकाश राज ने पहले राष्ट्रीय पुरस्कार लौटाने की बात कही, बाद में पलटे!

पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या का ‘जश्न’ मनाने वालों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चुप्पी को लेकर अभिनेता प्रकाश राज ने तीखा हमला बोला है। पांच बार राष्ट्रीय पुरस्कार जीत चुके प्रकाश ने कहा, उनका मन करता है कि अपने अवार्ड लौटा दें।
हालांकि बाद में अपने राष्ट्रीय पुरस्कारों को लौटाने की खबरों का खंडन करते हुए उन्होंने कहा कि मैं कोई मूर्ख हूं, जो पांच-पांच पुरस्कार लौटा दूं। ये राष्ट्रीय पुरस्कार मुझे मेरे काम की बदौलत मिले हैं और इसका मुझे गर्व है।

उन्होंने आरोप लगाया, ‘हमारे बीच एक ऐसा प्रधानमंत्री है जो इस घटना पर अपनी आंखें बंद किए बैठा है। मैं तुमसे बड़ा एक्टर हूं। इसलिए मेरे सामने एक्टिंग करने की कोशिश मत करो। एक एक्टर के तौर पर मेरा सम्मान करो। अगर तुम मेरे सामने ऐसी एक्टिंग करोगे, जैसे कुछ जानते ही नहीं हो तो क्या मैं कोई मूर्ख दिखता हूं या आज की युवा पीढ़ी मूर्ख है।’

नई दिल्ली में सीपीएम की युवा शाखा डेमोक्रेटिक यूथ फेडरेशन ऑफ इंडिया के 11वें राज्य सम्मेलन के उद्घाटन के मौके पर प्रकाश राज ने कहा, ‘मेरी परेशानी वो हैं जो ट्विटर पर इस हत्याकांड का जश्न मनाते दिख रहे हैं। गौरी को किसने मारा यह महत्वपूर्ण नहीं है। जो खुश हैं, उन्हें साफ देखा जा सकता है।

भले ही इस हत्याकांड को लेकर कोई साक्ष्य नहीं हों लेकिन चीजों को देखा जा सकता है। आज सोशल मीडिया के जरिए छिपी हुई क्रूरता का पता चल जाता है।’ प्रकाश राज ने कहा, ‘जब मैं देखता हूं कि कुछ लोग ऐसे एक्टिंग कर रहे हैं जैसे कुछ हुआ ही नहीं तो मुझे तो पांच राष्ट्रीय पुरस्कार मिले हैं। मैं महसूस करता हूं कि इन्हें लौटा दूं। वे मुझसे बड़े एक्टर हैं।’

योगी आदित्यनाथ पर भी साधा निशाना

दक्षिणपंथी विचारधारा की आलोचक गौरी लंकेश को सितंबर माह की शुरुआत में बंगलूरू में उन्हीं के घर के बाहर गोली मार दी गई थी। 55-वर्षीय गौरी लंकेश एक साप्ताहिक समाचारपत्र का प्रकाशन करती थीं। हत्या के इस मामले में फिलहाल किसी को भी गिरफ्तार नहीं किया गया है। घर पर लगे सिक्योरिटी कैमरा में हमलावर हेलमेट पहने दिखाई दे रहा था।

दरअसल, उनकी मौत का ट्विटर पर जश्न मनाने वालों में कुछ ऐसे लोग भी शामिल हैं जिनके बारे में कहा जाता है पीएम भी उन्हें फॉलो करते हैं।

हिंदी, कन्नड़, तेलुगू और तमिल फिल्मों के जाने-माने अभिनेता ने गोरखनाथ मंदिर के महंत के रूप में गोरखपुर में दशहरा की रस्में निभाने पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर भी हमला बोला। उन्होंने कहा, ‘यूपी का एक वीडियो देखा और यह पता नहीं लग रहा था कि यह कोई मुख्यमंत्री था या किसी मंदिर का पुजारी। कुछ ऐसे लोग हैं जो इस तरह के डबल रोल निभाते हैं।’